पहले थी मैं भोली भाली-नई पहेली

Paheliyan

पहले थी मैं भोली भाली, सब सहती थी मार, अब पहनी मैंने लाल चुनरिया, अब ना सहूंगी मार।

Pahle thi mai bholi-bhali, sab sehti thi maar, ab pehni maine lal chunariya, ab na sahungi maar

     उत्तर – घड़ा