रोज शाम को आती हूं मैं- पहेली

Paheliyan

रोज शाम को आती हूं मैं, रोज सवेरे जाती हूं, नींद न मुझको कभी समझना, यद्यपि आपको सुलाती हूं।

Roj shaam ko aati hu mai, roj savere jaati hu, nend na mujhko kabhi samjhna, Yadyapi aapko sulati hu mai.

    उत्तर - रात